Thursday, 28 April 2016

चुप्पी

एक चुप्पी जंगल में 

धीरे से धुंआ बन उठ रही है
हर कहीं 
आग का जलना जारी है।

No comments:

Post a Comment